बिपिन रावत का जीवन परिचय- CDS Bipin Rawat Biography In Hindi | CDS Bipin Rawat Biography: Age, Career, Salary

बिपिन रावत का जीवन परिचय- CDS Bipin Rawat Biography In Hindi | CDS Bipin Rawat Biography: Age, Career, Salary

भारत माता के एक महान सपूत का नाम है बिपिन रावत। यह नाम आपने जरूर सुना होगा और अगर नहीं सुना है तो यह बहुत खेद का विषय है। भारतीय थल सेना के प्रमुख जनरल सीडीएस बिपिन रावत का नाम भारत का बच्चा-बच्चा जानता है। 

चूंकि आज बुधवार 8 दिसंबर है। जिस दिन बिपिन रावत इस संसार को छोड़कर हमेशा हमेशा के लिए विदा हो गए। अतः सीडीएस बिपिन रावत जी का जीवन परिचय हम आप सभी को विस्तार पूर्वक बनाना चाहते हैं। 

बिपिन रावत एक ऐसी महान विभूति हुए हैं जिन्होंने भारतीय थल सेना, नौसेना, वायुसेना तीनों के साथ एक बहुत बड़ा सराहनीय कार्य किया है। 

भारत माता के सपूत CDS Bipin Rawat एकमात्र ऐसे इकलौते डिफेंस अधिकारी थे जिनको सबसे पहले CDS अधिकारी के रूप में चुना गया। 

CDS अधिकारी का मतलब होता है- Chief Of Defence Staff (चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ) यानि कि भारतीय सुरक्षा के मंत्री जिसका सीधा सीधा मतलब होता है कि भारतीय थल सेना, नौसेना और वायु सेना तीनों का संयोजन कराने वाला जो ‌मुख्य होता है। 

उसी को CDS पदवी प्राप्त होती है। प्रिय पाठकों,  बिपिन रावत जी का जन्म परिचय (CDS Bipin Rawat Biography) जानने की उत्सुकता आपके अंदर भी जरूर होगी क्योंकि एक ऐसे गढ़वाल से अपने जीवन की लीला शुरू करते हैं जो कि एक दुर्गम क्षेत्र कहा जा सकता है। 

तो आइए जानते हैं- सीडीएस बिपिन रावत की जीवन कहानी CDS Bipin Rawat Biography In Hindi

बिपिन रावत का जीवन परिचय- CDS Bipin Rawat Biography In Hindi | CDS Bipin Rawat Biography: Age, Career, Salary

इसे भी दबाएँ-  उत्तर प्रदेश ग्राम पंचायत चुनाव 2021 आरक्षण सूची UP PDF 💚🤔


कौन थे बिपिन रावत (Who is Bipin Rawat) 

बिपिन रावत कोई सामान्य इंसान नहीं बल्कि भारत माता के सपूतों में से एक महान सपूत हुए हैं जिन्होंने भारत सरकार की थल सेना का बहुत विशेष रूप से नेतृत्व किया। 

जिसके फलस्वरूप विपिन रावत को अनेकों पुरस्कार भारत सरकार द्वारा सुरक्षा के क्षेत्र में दिए गये और यहां तक कि भारत का सबसे पहला CDS अधिकारी के रूप में चुना गया। 

बिपिन रावत उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल से संबंध रखने वाले हैं। इनका जन्म पौड़ी गढ़वाल के एक छोटे से गांव में हुआ था।


देश के पहले सीडीएस अधिकारी विपिन रावत

आदरणीय विपिन रावत जी ने 31 दिसंबर 2019 को भारतीय थल सेना से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद उन्होंने क्षेत्र में भारत सरकार का एक मुख्य नेतृत्व CDS अधिकारी के रूप में ग्रहण किया। 

CDS अधिकारी एक ऐसा अधिकारी होता ह जो कि भारत सरकार की सुरक्षा का मुख्य नेतृत्व करने वाला अधिकारी होता है। जो भारत सरकार की तीनों सेनाओं यानी जल सेना, थल सेना और वायु सेना तीनों के मध्य में विचार विमर्श, परामर्श एवं तालमेल को स्थापित करता है। और मुख्य रूप से यह भारत सरकार से जुड़ा होता है।


इसे भी दबाएँ-  हनुमान चालीसा के समझ लो रहस्य, हनुमान चालीसा परिचय, पुस्तक PDF 💚


CDS बिपिन रावत की संक्षिप्त जीवनी

CDS Bipin Rawat Brief Biography


नाम- 


बिपिन 

पूरा नाम- 

बिपिन रावत

जन्म समय- 

16 मार्च 1958

जन्म स्थान- 

पौड़ी (उत्तराखण्ड)

पिता का नाम- 

लक्ष्मण सिंह रावत

पत्नी का नाम- 

मधुलिका रावत

बेटी/बेटा का नाम-


कृत्तिका, तरिणी

मृत्यु/ निधन-

8 दिसम्बर 2021

उम्र-

63 साल



बिपिन रावत का जन्म परिचय (CDS Bipin Rawat Birth)

भारत माता के महान सपूत बिपिन रावत का जन्म उत्तराखंड देव भूमि के पौड़ी जनपद में 16 मार्च 1958 को हुआ था। बिपिन रावत के पिता भी पहले से ही भारत सरकार के लेफ्टिनेंट जनरल रहे हैं।


इसे भी दबाएँ-  सृष्टि की रचना कैंसे हुई- पढें पुरुष सूक्त PDF💚

इसे भी दबाएँ-  कामसूत्र पुस्तक PDF (Kamasutra Book PDF💚


विपिन रावत की शिक्षा दीक्षा (CDS Bipin Rawat Education)

बिपिन रावत की शुरुआती शिक्षा देहरादून के कैंब्रियन हाई स्कूल में हुई। इसके बाद वे हिमाचल शिमला में भी अपनी पढ़ाई के लिए गये। 

पुनः बाद में देहरादून में इंडियन मिलट्री अकैडमी से बिपिन रावत ने अपनी शिक्षा को एक नई उड़ान दी।

इंडियन मिलिट्री एकेडमी में इनको बहुत सारे सम्मानों से भी विभूषित किया गया।

इसके बाद विपिन रावत हाइयर डिफेंस स्टडी के लिए अमेरिका चले गये। अमेरिका से ही इन्होंने अपनी शिक्षा को एक बहुत बड़ी ऊंचाई प्रदान की।

इसे भी दबाएँ- Hindi To Sanskrit Translation( (हिंदी से संस्कृत अनुवाद सीखें) 💚


विपिन रावत का करियर (CDS Bipin Rawat Career)

भारत माता के महान सपूत- CDS Bipin Rawat को 16 दिसंबर 1978 के दिन भारतीय सेना के गोरखा राइफल में शामिल किया गया। 

CDS Bipin Rawat की पहली पोस्ट मिजोरम में हुई थी और इस पोस्ट का पूरे भारत सरकार ने बहुत ज्यादा सम्मान किया। उन्होंने इस कालखंड में बहुत ही अच्छे ढंग से इसका नेतृत्व किया।


CDS Bipin Rawat ने राष्ट्रीय मुद्दों पर बहुत सारे लेख विभिन्न पत्रिकाओं में प्रकाशित किए।

बिपिन रावत 21 दिसंबर 2019 को भारत के पहले CDS अधिकारी बने। 1 जनवरी 2020 को उन्होंने इस का कार्यभार ग्रहण किया।


सीडीएस बिपिन रावत को मिले पुरस्कार

वैंसे तो बिपिन रावत ने अपने जीवन काल में असंख्य पुरस्कार प्राप्त किए लेकिन उनमें से कुछ महत्वपूर्ण पुरस्कारों का नाम उल्लेख यहां किया जा रहा है।

  • उत्तम युद्ध सेवा पदक
  • विशिष्ट सेवा पदक
  • युद्ध सेवा पदक
  • विशिष्ट सेवा पदक
  • परम विशिष्ट सेवा पदक
  • अति विशिष्ट सेवा पदक

इसे भी दबाएँ-  आदित्य हृदय स्तोत्र PDF (Aditya Hridaya Stotra PDF💚



लेखन के प्रेमी- विपिन रावत

भारत माता के बड़े सपूत, शूरवीर एवं परमवीर CDS Bipin Rawat न केवल एक सुरक्षा सेना अधिकारी के रूप में जाने जाते हैं बल्कि सीडीएस बिपिन रावत जी को लेखनी से बहुत ज्यादा प्रेम था। 

बिपिन रावत ने अपने बहुत सारे विषयों पर राजनीतिक मुद्दों पर अपनी लेखनी को दुनिया के सामने प्रकाशित किया। उन के बहुत सारे लेख विभिन्न पत्रिकाओं में प्रकाशित हैं।


बिपिन रावत के अनमोल वचन

चूंकि बिपिन रावत CDS अथवा भारत सरकार के सुरक्षा के अधिकारी के रूप में ज्यादातर सेवाएं देते थे। इसीलिए उन्होंने अपनी कलम को राष्ट्रीय मुद्दों पर एवं राजनीतिक मुद्दों पर भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए विभिन्न समसामयिक मुद्दों पर कटु प्रहार किया। 

विपिन रावत जी ने कुछ बहुत ही अनमोल वचन भारतीय थल सेना को दिए, जिनमें से कुछ जोश जगाने वाले अनमोल वचन नीचे दिए गए हैं।


उन देशभक्तों की बराबरी हम कभी नहीं कर सकते जो सियाचिन की पिघलती हुई बर्फ में देश सेवा के लिए रात दिन लगे हैं।


देश की सेवा के लिए हम अकेला कुछ नहीं करते बल्कि भारत का एक-एक नागरिक किसी न किसी रूप में अपने देश की सेवा करता है।

इसे भी दबाएँ-  हनुमान चालीसा के समझ लो रहस्य, हनुमान चालीसा परिचय, पुस्तक PDF 💚


सीडीएस बिपिन रावत की मृत्यु निधन (CDS Bipin Rawat Death)

आज 8 दिसंबर 2021 को भारत माता के महान सपूत CDS Bipin Rawat का निधन होना पूरे भारत के लिए एक अत्यंत असह्य पीड़ा युक्त है। 

तमिलनाडु के कुन्नूर नामक जगह में हेलीकॉप्टर क्रैश होने की वजह से CDS Bipin Rawat का निधन हो गया। जानकारी के मुताबिक हेलीकॉप्टर में 14 लोग सवार थे जिसमें कि सीडीएस बिपिन रावत की पत्नी भी शामिल थी। 

बताया जा रहा है कि उनकी पत्नी भी इस संसार से विदा हो चुकी हैं। यह पूरे भारतवर्ष के लिए एक अत्यंत दुखद सूचना है। हम ऐंसे भारत माता के महान सपूतों को सदैव के लिए स्मरण करते रहेंगे एवं उनकी गाथा का हमेशा गुणगान करते रहेंगे। 

इसे भी दबाएँ-  शीघ्र धनप्राप्ति के लिए श्रीसूक्त का पाठ करें- Sri Suktam PDF 💚



बिपिन रावत की उम्र - CDS Bipin Rawat Age

भारत माता के महान सपूत बिपिन रावत का जन्म 1958 में हुआ था और 2021 में इनका देहांत हो चुका है इसके अनुसार CDS Bipin Rawat की उम्र 63 वर्ष की थी।


बिपिन रावत की सैलरी- CDS Bipin Rawat Salary

भारत माता के महान सपूत परम शूरवीर सीडीएस बिपिन रावत की सैलरी उनके कार्य पर निर्भर करती थी क्योंकि यह भारत सरकार के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ थे। तो संभवत इनकी सैलरी तीन लाख के आसपास मानी जाती है। 

इसे भी दबाएँ- Hindi To Sanskrit Translation( (हिंदी से संस्कृत अनुवाद सीखें) 💚



बिपिन रावत का परिवार- Bipin Rawat Family

बिपिन रावत का परिवार आज उनके निधन से बहुत ही बड़ी वेदना को सहन कर रहा है। भगवान उनको सामर्थ्य प्रदान करें। 

बिपिन रावत के परिवार में उनकी पत्नी मधुलिका रावत और उनकी दो बेटियां कृतिका और तरिणी थी। आज बिपिन रावत अपनी पत्नी सहित इस संसार को छोड़कर के चले गे- यह उनकी बेटियों के लिए बहुत ही बड़ी पीड़ा व दर्द भरा पल है।

इसे भी दबाएँ-  रामायण के रचयिता कौन थे? सच्चाई जान लो 💚


बिपिन रावत की पत्नी मधुलिका रावत

जिस तरह बिपिन रावत भारत माता के महान सुर वीरों में से एक थे वैसे ही बिपिन रावत की पत्नी पूजा मधुलिका रावत भी एक श्रेष्ठ वीर सेनानी की तरह आचरण करने वाली थी। 

मधुलिका रावत ने अपनी पढ़ाई दिल्ली विश्वविद्यालय से संपन्न की थी। मधुलिका रावत का मायका मध्य प्रदेश में है।  वीर सपूत CDS Bipin Rawat एवं मधुलिका रावत को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि हम सभी अर्पित करते हैं। 

आप सभी लोग यह अमूल्य जानकारी को अपने मित्रों तक अवश्य पहुंचाएं ताकि हम सभी ऐसे महान वीर सपूतों को याद कर सके उनके बारे में जान सकें। धन्यवाद।

आपको ये भी जरूर पसंद आ सकते हैं- क्लिक करके तो देखो, जरा 👇👇


घर बैठे संस्कृत बोलना सीखें- निःशुल्क♐



CLICK HERE

 


क्या रामायण के रचयिता- वाल्मीकि एक डाकू थे? पूरा पढें ♐



CLICK HERE

 


संधि 💔विच्छेद किसे कहते हैं- पूरी कथा ♐


CLICK HERE



समास किसे कहते हैं- समास के भेद ♐


CLICK HERE

 




Post a Comment

0 Comments