Sri Suktam 16 Mantra PDF | श्री सूक्त 16 मंत्र PDF Download | Sri Suktam PDF- श्रीसूक्त PDF

Sri Suktam 16 Mantra PDF | श्री सूक्त 16 मंत्र PDF Download | Sri Suktam PDF- श्रीसूक्त PDF

जय माता लक्ष्मी की। धन सम्पत्ति, ऐश्वर्य आदि को भर देने वाली माता लक्ष्मी का प्रिय सूक्त है- श्री सूक्त Shri Suktam जी हाँ, श्री सूक्त में कुल 16 मंत्र हैं जो कि माता लक्ष्मी को समर्पित हैं। कहा जाता है कि Sri Suktam 16 Mantra का नित्य पाठ करने से घर में धन की वर्षा होती है। 

Sri Suktam PDF कंहा मिलेगा- आपकी इसी चिन्ता को देखते हुए हम आपके लिए Sri Suktam 16 Mantra PDF लेकर आए हैं। यंहा से आप सम्पूर्ण श्री सूक्त पीडीएफ बड़ी आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। 

इसे भी दबाएँ-  सृष्टि की रचना कैंसे हुई- पढें पुरुष सूक्त PDF💚


आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि आपकी अपनी इस SanskritExam. Com वेबसाइट पर विभिन्न धार्मिक, ऐतिहासिक, संस्कृत सामग्री PDF Notes आदि का विशाल संग्रह भरा हुआ है। अतः इस वेबसाइट के मेनूबार में अवश्य जाएं। आइये, Sri Suktam 16 Mantra PDF डाउनलोड कर लीजिए।

इसे भी दबाएँ-  दुर्गा सप्तशती संपूर्ण पाठ हिंदी में PDF💚


Sri Suktam 16 Mantra PDF के बारे में


Sri Suktam 16 Mantra PDF



Book/ PDF Name-


Sri Suktam (श्री सूक्तम्)

Book/ PDF Type

Vedic Suktam

Language-

Sanskrit & Hindi & English

File Format-

PDF

File Size-

212 Kb


इसे भी दबाएँ-  हनुमान चालीसा के समझ लो रहस्य, हनुमान चालीसा परिचय, पुस्तक PDF 💚


Sri Suktam 16 Mantra PDF Download

प्रिय पाठकों, वैंसे तो धन सम्पत्ति की वृद्धि के लिए श्री सूक्त का पाठ हमेशा करना चाहिए लेकिन हमेशा न भी करें तो दिवाली पर्व, लक्ष्मी पूजा, धनतेरस आदि पवित्र दिनों में श्री सूक्त का पाठ अवश्य करना चाहिए। 

यदि आप Sri Suktam PDF डाउनलोड करना चाहते हैं और महालक्ष्मी की असीम अनुकम्पा प्राप्त करना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पधारे हैं। यंहा हम आपको शुद्ध संपूर्ण Sri Suktam 16 Mantra PDF प्रदान कर रहे हैं। श्री सूक्त पीडीएफ डाउनलोड करने से पहले श्री सूक्त के बारें में कुछ रहस्यमयी बातें जान लीजिए।

इसे भी दबाएँ-  आदित्य हृदय स्तोत्र PDF (Aditya Hridaya Stotra PDF💚


श्री सूक्त क्या है? What Is Sri Suktam

हिंदू धर्म में देवी देवताओं की कृपा प्राप्त करने के लिए विभिन्न सूक्त अनादिकाल से सिद्ध हैं। श्री सूक्त भी उनमें से एक विशिष्ट सूक्त है को कि विश्व के सबसे प्राचीन ग्रंथ ऋग्वेद से लिया गया है। श्री सूक्त महालक्ष्मी माता को समर्पित है। 

कहा जाता है कि जिस घर में श्री सूक्त का पाठ होता है उस घर में धन की कभी कमी नहीं होती है। शुद्ध श्री सूक्त संस्कृत पाठ PDF लिंक यंहा दिया जा रहा है। श्री सूक्त पाठ करने श्री वर्चस्व अर्थात् धन की वृद्धि होती है।

इसे भी दबाएँ-  सिद्ध कुंजिका स्तोत्र PDF💚


श्री सूक्त का पाठ कितनी बार करना चाहिए?

धन की प्राप्ति व महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए प्रतिदिन 8 या 16 बार श्री सूक्त का पाठ अवश्य करना चाहिए।

उपरोक्त वीडियो में श्री सूक्त (Sri Suktam 16 Mantra) का शुद्ध मधुरवाणी में पाठ किया गया है। इस वीडियो का क्रेडिट Nova Spiritual India यूट्यूब चैनल को जाता है। अतीव धन्यवादः।


इसे भी दबाएँ-  मरने के बाद क्या होता है 🤔 गरुड़ पुराण💚


श्री सूक्त कैसे सिद्ध करें

श्री सूक्त सिद्ध होने पर इस संसार में कोई भी वस्तु दुर्लभ नहीं होती। जो व्यक्ति श्री सूक्त को सिद्ध कर लेता है उसको संसार की धन दौलत, ऐश्वर्य आदि सब कुछ मिल जाता है। श्री सूक्त को सिद्ध करने के लिए निम्न बातों का ध्यान रखें-
  • प्रतिदिन श्रीसूक्त का 16 बात पाठ करें।
  • श्री सूक्त पाठ के बाद हवन भी करें।
  • मन व तन दोनों को पवित्र रखें।
  • वाणी से किसी को गलत न बोलें।
  • पैंसे आदि का अपमान न करें।


इसे दबाएँDurga Kavach PDF (दुर्गा कवच)


श्री सूक्त पाठ करने से क्या होता है?

श्री सूक्त पाठ करने से महालक्ष्मी की कृपा बरसती है। धन सम्पत्ति की अपार वृद्धि होने लगती है। दरिद्रता शीघ्र ही दूर होने लगती है।


श्री सूक्त बेनिफिट्स (लाभ)

श्री सूक्त के बहुत सारे बेनिफिट्स हैं। श्री सूक्त से विशेष लाभ यही है कि घर में धन की कमी दूर होती है। महालक्ष्मी की कृपा से अन्न व धन खूब बरसने लगता है।

इसे भी दबाएँ-  कामसूत्र पुस्तक PDF (Kamasutra Book PDF💚


श्री सूक्त का हवन कैंसे करे

श्री सूक्त का हवन करने के लिए पहले श्री सूक्त का पाठ करें। सर्वप्रथम महालक्ष्मी की पूजा करें। उनका षोडशोपचार पूजन करके श्री सूक्त का पाठ शुरु करें महालक्ष्मी मंत्र से जाप भी करें। श्री सूक्त का 108 बार पाठ करने के बाद श्री सूक्त 16 मंत्रों से हवन करें। Sri Suktam 16 Mantra PDF लिंक नीचे दिया गया है।


श्री सूक्त का पहला मंत्र

श्री सूक्त का पहला मंत्र ही धन से शुरु होता है। श्री सूक्त के पहले मंत्र में हिरण्य का प्रयोग किया है। महालक्ष्मी को हिरण्यवर्णा कहकर उनसे प्रार्थना की गयी है। श्री सूक्त का पहला मंत्र निम्न है-
हिरण्यवर्णां हरिणीं सुवर्णरजतस्रजाम्।
चन्द्रां हिरण्मयीं लक्ष्मीं जातवेदो म आ वह।।

इसे भी दबाएँ-   हवन सामग्री लिस्ट (Puri Hawan Samagri List) 💚


श्री सूक्त का पाठ करने से धन आता रहेगा

श्री सूक्त का नियमित पाठ करने से धन अवश्य आने लगता है। महालक्ष्मी की कृपा होती है व उनकी कृपा से धन आता रहेगा‌।


श्री सूक्त में छन्दों का प्रयोग

श्री सूक्त में विभिन्न वैदिक छन्दों का प्रयोग किया गया है। श्री सूक्त के अधिकांश मंत्रों में वैदिक अनुष्टुप् छंद का प्रयोग किया गया है।

इसे भी दबाएँ-  करें विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ (विशेष फलदायक) 💚


श्री सूक्त ऋग्वेद में लक्ष्मी पूजा करने के लिए किताब चाहिए रोजाना पाठ करने हेतु

यदि आप माता लक्ष्मी की पूजा करने के लिए श्री सूक्त पुस्तक प्राप्त करना चाहते हैं तो नीचे हमने शुद्ध संपूर्ण श्री सूक्त पीडीएफ (Sri Suktam 16 Mantra PDF) डाउनलोड लिंक दिया है। जिसे आप बडी आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

इसे भी दबाएँ- Hindi To Sanskrit Translation( (हिंदी से संस्कृत अनुवाद सीखें) 💚


Sri Suktam 16 Mantra PDF Download Link

प्रिय पाठकों, जय माता लक्ष्मी की। यदि आप भी श्री सूक्त का पीडीएफ प्राप्त करना चाहते हैं तो अब आप बिल्कुल चिंता न करें। शुद्ध संस्कृत ऋग्वेद श्री सूक्त PDF यंहा दिया गया है। Sri Suktam 16 Mantra PDF डाउनलोड करने के लिए नीचे डाउनलोड पीडीएफ फाइल पर क्लिक करें। 

इसके अलावा यदि आप अन्य विभिन्न देवी देवताओं के स्तोत्र, सूक्त, धार्मिक PDF डाउनलोड करना चाहते हैं तो इस वेबसाइट के मुख्य पेज अथवा मेनूबार में अवश्य जाएं। धन्यवादः।
Sri Suktam 16 Mantra PDF

Sri Suktam PDF (श्री सूक्त PDF)

Sri Suktam 16 Mantra PDF In Hindi 

Sri Suktam 16 Mantra PDF In English

Sri Suktam 16 Mantra PDF With Meaning


अन्य हिंदूधर्म ग्रंथ PDF लिंक

अन्य हिंदू धर्मग्रंथ संबंधित PDF का लिंक नीचे दिया गया है। सभी धर्मशास्त्र, पुराण, कर्मकाण्ड, संस्कृत व्याकरण आदि की PDF फाइल आप यंहा (इस वेबसाइट पर) आसानी से डाउनलोड कर पाएंगे। 

ललिता सहस्त्रनामस्तोत्रम् PDF  ♐

विष्णुसहस्त्रनाम संस्कृत ‌ PDF ♐

भगवद्गीता PDF (संस्कृत/हिंदी) ♐

भागवत पुराण PDF ♐

Devi Kavach Sanskrit PDF ♐







Post a Comment

0 Comments