संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ | संस्कृत शब्दकोश 📚❤ | Sanskrit Shabd ka Hindi Arth

प्यारे मित्रों ❤, आप सभी को प्यार भरा नमस्कार। क्या आप भी बहुत आसानी से संस्कृत बोलना चाहते हैं। क्या आप भी किसी भी संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ  बहुत आसानी से जानना चाहते हैं। तो आप, बिल्कुल सही जगह पहुँचे हैं। जी हाँ, आज हम आप सभी के लिए लेकर आए हैं- विभिन्न संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ- संस्कृत शब्दकोश। ये सभी संस्कृत शब्द दैनिक उपयोगी हैं। अतः आप सभी इन संस्कृत शब्दों को अवश्य देखें।

इस पृष्ठ में

संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

स्थानवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

कालवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

सर्वनामवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

प्रश्नवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

संबन्धवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ


इसे भी दबाएँ- Hindi To Sanskrit Translation( (हिंदी से संस्कृत अनुवाद सीखें) 💚


संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

प्यारे मित्रों, यदि आप भी आसानी से संस्कृत बोलना चाहते हैं, तो इसके लिए आपके लिए सबसे जरूरी है कि संस्कृत शब्द का हिन्दी अर्थ समझना। अपने संस्कृत शब्दकोश को बढाना। 

जी हाँ, यँहा दैनिक उपयोगी कुछ महत्वपूर्ण संस्कृत शब्द तथा उनका हिन्दी व अंग्रेजी अर्थ दिया गया है, जिससे आप भी आज से ही संस्कृत बोलना शुरु कर दें। 

प्रिय मित्राणि, आज हम आपको विभिन्न संस्कृत शब्दों का हिंदी अर्थ तो बताएँगे ही लेकिन संस्कृत शब्दकोश को जानने से पहले हम आपको संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ बताना चाहेंगे। 

वास्तव में संस्कृत- इस शब्द का क्या अर्थ होता है। सबसे पहले यही जानते हैं- संस्कृत अर्थात् शुद्ध, संस्कारित, परिमार्जित, परिनिष्ठित, व्यवस्थित, पवित्र, सात्विक आदि। 

संस्कृत को अंग्रेजी में Welldone, Pure, Devine आदि नामों से भी कह सकते हैं।‌ सामान्य रूप से संस्कृत शब्द नपुंसक लिंग में प्रयोग किया जाता है। संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ नीचे तालिका से भी देख सकते हैं- संस्कृत Meaning In Hindi - Matlab (Definition)

संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

Sanskrit Meaning In Hindi - Matlab (Definition)

शुद्ध, संस्कारित, परिमार्जित, परिष्कृत, व्यवस्थित, परिनिष्ठित, पवित्रित, शिष्ट, जिसका संस्कार किया गया हो, सजाया हुआ, ठीक दुरुस्त, स्वच्छ, उपनयन संस्कार से सम्पन्न आदि।

प्रिय मित्राणि, संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ क्या होता है। यह हमने संक्षेप में ऊपर बता दिया। 

इसे भी दबाएँ- Thank You In Sanskrit (संस्कृत में थैंक यू बोलने के बेहतरीन तरीके 💚


यदि आप संस्कृत शब्द की उत्पत्ति, संस्कृत शब्द का इतिहास, संस्कृत शब्द का रहस्य आदि पूरा विस्तार से जानना चाहते हैं तो यंहा क्लिक करें- संस्कृत शब्द व संस्कृत भाषा का पूरा परिचय ♐

मित्राणि, अब हम अपने आज के मुख्य विषय पर आते हैं। विभिन्न दैनिक उपयोगी संस्कृत शब्दों का संस्कृत हिंदी शब्दकोश हम यंहा प्रस्तुत करने जा रहे हैं। 

तो आइये,  संस्कृत शब्दकोश की इस शृंखला में सबसे पहले स्थानवाचक संस्कृत शब्द व उनका हिंदी अर्थ जानते हैं।      

     स्थानवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

संस्कृत शब्द

हिंदी अर्थ

अंग्रेजी अर्थ

अत्र

यंहा

Here

तत्र

वंहा

There

कुत्र

कंहा

Where

एकत्र

एक जगह

One place

सर्वत्र

सब जगह

Everywhere

परत्र

दूसरी जगह

Out from here

अमुत्र

इस लोक में

Here in the world

बहुत्र

बहुत जगह

Many where

भूरित्र

बहुत जगह

Everywhere  

पुरुत्रा

बहुत जगह

Everywhere

कुत्रापि

कंही भी

Anywhere

 

संस्कृत  शब्दकोश अत्यन्त विशाल है। तथापि कुछ दैनिक उपयोगी संस्कृत शब्द आपको संस्कृत बोलने के लिए अवश्य जानने चाहिए। यँहा कुछ कालवाचक संस्कृत शब्द का हिन्दी अर्थ तथा अंग्रेजी अर्थ दोनों दिया गया, जिससे आप भी संस्कृत बोलने में सफल हो पाएँ। आज से घर बैठे संस्कृत बोलना सीखें।

  

     कालवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

संस्कृत शब्द

हिंदी अर्थ

अंग्रेजी अर्थ

कदा

कब

When

तदा

तब

Then

यदा

जब

When

सर्वदा

हमेशा

Always

एकदा

एक बार

Once

कदाप्रभृति

कब से

Since when

कदावधि

कब तक

Till when

तदाप्रभृति

तब से

Since then

तदावधि

तब तक

By  then

अद्यावधि

आज तक

Till now

अद्य

आज

Today

श्वः

कल (आने वाला)

Tomorrow

परश्वः

परसों (आने वाला)

Day after tomorrow

ह्यः

कल (बीता हुआ)

Yesterday

परह्यः

परसों (बीता हुआ)

Day before yesterday

प्रतिदिनम्

हर दिन

Daily

 

किसी भी भाषा मे ंसर्वनाम शब्दों की बहुत जरूरत होती है। यह, वह. हम, तुम आदि दैनिक उपयोगी शब्द हमें संस्कृत में जरूर जानने चाहिए। यँहा कुछ ऐंसे ही सर्वनाम संस्कृत शब्दों का हिंदी अर्थ तथा अंग्रेजी अर्थ दिया गया है। ये संस्कृत शब्द आपके शब्दकोश को एक नई उडान देंगे। 

     सर्वनाम संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

संस्कृत शब्द

हिंदी अर्थ

अंग्रेजी अर्थ

सः

वह (पुल्लिंग)

He

सा

वह (स्त्रीलिंग)

She

तत्

वह (नपुंसकलिंग)

That

त्वम्

तुम

You

अहम्

मैं

I / me

वयम्

हम सब

We

ते

वे सब (पुलिंग)

They

ताः

वे सब (स्त्रीलिंग)

They

तानि

वे सब (नपुंसकलिंग)

That’s / those

सर्वे

सभी (पुलिंग)

All of you

सर्वाः

सभी (स्त्रीलिंग)

All of you

सर्वाणि

सभी (नपुंसकलिंग)

All of that’s


इसे भी पढें ❤ संस्कृत में अनुवाद कैंसे करें ♐ 🤔❓



कौन, कब, क्या, कंहा आदि शब्दों का प्रयोग तो आप सब भी जरूर करते हैं, लेकिन क्या आपको पता है इनको संस्कृत में क्या बोलते हैं। संस्कृत में प्रश्न कैंसे बनाते हैं। संस्कृत में वाक्य कैंसे बनाते हैं। इत्यादि बातों को समझने के लिए आपको संस्कृत प्रश्नवाचक शब्द समझने होंगे। यँहा कुछ प्रश्नवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ तथा अंग्रेजी अर्थ दिया गया है।

     प्रश्नवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

संस्कृत शब्द

हिंदी अर्थ

अंग्रेजी अर्थ

किम्   

क्या

What

कथम्

कैंसे

How

किमर्थम्

किसलिए

What for

कुतः

कंहा से

From where

कदा

कब

When

कुत्र

कंहा

where

कः

कौन (पुल्लिंग)

Who

का

कौन (स्त्रीलिंग)

Who

कतमम्

कौन सा

Which

कति

कितने

How many

कियत्

कितना

How much

 

तेरा, मेरा, उसका, किसका आदि के लिए संस्कृत में क्या बोलें। संस्कृत भाषा दुनिया की सबसे प्राचीन भाषा है। अतः आप सभी को संस्कृत भाषा को बोलकर गर्व महसूस करना चाहिए। संस्कृत में सम्बन्धवाचक शब्द आपको जरूर जानने चाहिए। यँहा कुछ ऐेसे ही संबन्धवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ दिया गया है, जिससे आप भी आज से ही संस्कृत में तेरी-मेरी, मेरी-तेरी कर पाएँ।

    सम्बन्धवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ

संस्कृत शब्द

हिंदी अर्थ

अंग्रेजी अर्थ

कस्य

किसका

Whose

अस्य

इसका

His / its

अस्याः

इसका (स्त्रीलिंग)

Her

कस्याः

किसका (स्त्रीलिंग)

Whose

तस्य

उसका (पुलिंग)

His

तस्याः

उसका (स्त्रीलिंग)

Her

तेषाम्

उनका (पुलिंग)

Their

तासाम्

उनका (स्त्रीलिंग)

Their

मम

मेरा

My/ mine

अस्माकम्

हमारा

Our

सर्वेषाम्

सबका (पुलिंग)

Everyone’s

सर्वासाम्

सबका (स्त्रीलिंग)

Everyone’s

तव

तुम्हारा

Your

युष्माकम्

तुम सबका

Yours

भवतः

आपका (पुलिंग)

Your

भवत्याः

आपका (स्त्रीलिंग)

Your

कस्यचित्

किसी एक का

Of someone  

 

प्यारे मित्रों, हमें उम्मीद है उपरोक्त दिए गये संस्कृत शब्द का हिन्दी अर्थ आप अच्छे ढंग से समझ चुके होंगे। आप सभी ने ऊपर बताए गये संस्कृत शब्दों को जरूर याद कर लिया होगा और आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी। अगर पसंद आयी हो तो हमें नीचे कमेंट करके बताएँ। धन्यवादः।


संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ - फलवाचक संस्कृत शब्द Video

Video By-  उपर्युक्त वीडियो में OrChids E-Learning यूट्यूब चैनल की मैडम जी ने बहुत ही अच्छे तरीके से संस्कृत शब्दों का हिंदी अर्थ व साथ में अंग्रेजी अर्थ बहुत जी का बहुत बहुत धन्यवादः।



क्रियावाचक संस्कृत शब्दों का हिंदी अर्थ (KriyaVachak Sanskrit Shabd Ka Hindi Arth)

  • उत्थानम् -    उठना
  • उपवेशनम्-   बैठना
  • शयनम् -       सोना
  • जागरणम्-    जागना
  • भाषणम्-      बोलना
  • गर्जनम्-        गरजना
  • दानम्-           देना
  • आदानम्-      लेना
  • प्रतारणम्-      धोखा देना
  • आरोहणम्-     चढना
  • अवरोहणम्-   उतरना
  • हसनम्-          हँसना
  • रोदनम्-          रोना
  • उद्घाटनम्-       खोलना
  • चयनम्-          चुनना
  • पिधानम्-        ढकना
  • भर्जनम्-        भूनना
  • पेषणम्-          पीसना
  • घर्षणम्-         घिसना
  • लेपनम्-          लीपना
  • प्रोञ्छनम्-       पोंछना
  • लेहनम्-          चाटना
  • क्रयणम्-        खरीदना
  • विक्रयणम्-       बेच


जातिवाचक संस्कृत शब्दों का हिंदी अर्थ (JatiVachak Sanskrit Shabd Ka Hindi Arth)

  • वर्धकिः-     बढ‌ई
  • कृषकः-      किसान
  • भृत्यः-        नौकर
  • प्रतिवेशी-    पड़ोसी
  • आक्रीडी-    खिलाड़ी
  • स्वर्णकारः-  सुनार
  • लौहकारः-  लोहार
  • मालाकारः-  माली
  • रजकः-       धोबी
  • कर्मकरः-     मजदूर
  • व्याधः-        शिकारी
  • सौचिकः-     दर्जी
  • चित्रकारः-    चित्र बनाने वाला
  • द्यूतकारः-     जुआरी
  • मांसिकः-     कसाई
  • प्रतीहारः- ‌‌    द्वारपाल
  • चर्मकारः-     चमार
  • नापितः-       नाई
  • तन्तुवायः-    जुलाहा
  • शिल्पी-        कारीगर
  • वैणिकः-      सितारवादक
  • कुंभकारः-    कुमार

पशुवाचक संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ (Pashu Vachak Sanskrit Shabd Ka Hindi Arth)

  • गजः-      हाथी
  • सिंहः-     शेर
  • व्याघ्रः-    बाघ
  • ऋक्षः-     भालू
  • शूकरः-     सूअर
  • शशकः-    खरगोश
  • वानरः-     बन्दर
  • उष्ट्रः-        ऊँट
  • गर्दभ:-     गधा
  • अश्वः-      घोड़ा
  • मृगः-       हिरन
  • एडका-      भेड़
  • मार्जारी-   बिल्ली
  • कुक्कुरः-   कुत्ता
  • महिषः-     भैंस
  • वृषभः-      बैल
  • गौः-          गाय
  • अजा-       बकरी

इसे भी पढें ❤- संस्कृत में गिनती सीखें- जबरदस्त तरीका ♐ 🤔❓



कुछ अन्य उपयोगी संस्कृत शब्द व उनका हिंदी अर्थ (Upyogi Sanskrit Shabd)

  • उपनेत्रम्-         चश्मा
  • उत्कोचः-         घूस
  • कटाहः-           कड़ाई
  • आपणः-          दुकान
  • प्रतोलिका-      गली
  • गवाक्षः-           खिड़की
  • कारावासः-      जेल
  • ऋणम्-           उधार
  • जाल्मः-          धोखेबाज
  • खद्योतः-         जुगनू
  • स्वेद:-             पसीना
  • विचूषिका-      हैजा
  • शिविरम्-         छावनी
  • प्रग्रह:-            लगाम
  • बकः-              बगुला
  • यामिकः-         पहरेदार
  • अभियोगः-      मुकदमा
  • निवासः-          डेरा
  • दण्डदीपः-        ट्यूबलाइट
  • सुधाखण्डः-      चाॅक
  • श्यामपट्ट:-        ब्लैकबोर्ड
  • दूरवाणी-           मोबाइल फोन
  • दर्पणः-             शीशा
  • स्यूतः-              बैग/बस्ता
  • आसन्द:-          कुर्सी
  • उत्पीठिका-        मेज
  • मंजूषा-             पेटी
  • भित्तिः-             दीवार
  • प्रकोष्ठ:-            कमरा
  • शय्या-              पलंग
  • कूपी-               बोतल
  • द्वारम्-             दरवाजा
  • तालकम्-          ताला
  • कुंजिका-          चाबी
  • पाषाणः-           पत्थर
  • चषकः-           गिलास
  • स्थाली-            थाली


"अ" अक्षर से शुरु होने वाले संस्कृत शब्दों का हिंदी अर्थ

  • अस्ति-         है।
  • अतीतः-       बीता हुआ।
  • अयम्-         यह
  • अनुजः-        छोटा
  • अग्रजः-        बड़ा
  • अवरोहति-   उतरता है।
  • अन्धकारः-   अंधेरा
  • अपकारः-     अनादर
  • अपभाषणम्- गलत बोलना
  • अरुणिमा-     लाली
  • अर्धम्-          आधा
  • अर्धांगिनी-    पत्नी
  • अर्थः-            धन
  • अस्तु-          ठीक है।
  • अत्र-             यंहा
  • अथ-           शुरु करना
  • अधुना-        अब
  • अन्तरा-        बिना
  • अर्वाची-       दक्षिण
  • अनुचितः-     गलत
  • असत्यम्-      झूठ
  • अनादरः-      अनादर
  • अन्यः-          दूसरा
  • अन्यस्मै-       दूसरे के लिए
  • अद्य-           आज
  • अद्यतनम्-    आज का
  • अद्यप्रभृति-   आज से
  • अद्यावधि-     आज तक
  • अधुनातनम्- आजकल
  • अहो-           आश्चर्यबोधक 
  • अमितः-       असीमित
  • अवशिष्टः-     बचा हुआ।
  • अम्बा-          माता
  • अर्धरात्रौ-      आधी रात में
  • अहोरात्रम्-    दिन रात
  • अहिः-           साँप
  • अहिपतिः-     सांपो का राजा
  • अहंकारः-      घमण्ड
  • अजा-           बकरी
  • अगः-            पर्वत
  • अघः-            पाप
  • अचः-           स्वर वर्ण
  • अरिः-           दुश्मन
  • अकर्मण्य:-    निकम्मा
  • अत्ति-           खाता है।
  • अनुरोधः-      अनुरोध
  • अंशः-            टुकड़ा
  • अधिलोकम्-  लोक में
  • अक्षिन्-         आँख
  • अज्ञः-           अज्ञानी


संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ - Book (पुस्तकम्)

संस्कृत हिंदी शब्दकोश की बेहतरीन सर्वश्रेष्ठ धमाकेदार पुस्तक अभी घर बैठे खरीदें। शुरु से लेकर बिल्कुल फर्राटेदार एडवांस तक विभिन्न संस्कृत शब्दों का हिंदी अर्थ (संस्कृत हिंदी शब्दकोश संग्रह पुस्तक) 👇

दर्शकों द्वारा पूछे गये सवाल-जवाब

प्यारे मित्राणि,😍 यंहा कुछ Sanskrit Words Meaning In Hindi सवाल जवाब के रूप में दिए गये हैं। ये आपके संस्कृत शब्द भण्डार तथा संस्कृत शब्दावली को खूब समृद्ध बनाएंगे। विभिन्न संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ- सवालों का जवाब


सा संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ
सा संस्कृत शब्द का अर्थ होता है- वह (स्त्रीलिंग) उदाहरण के लिए- 
  • (संस्कृत) सा बालिका - (हिंदी) वह लडकी
  • (संस्कृत) सा वृद्धा - (हिंदी) वह बूढी

भवति संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ
भवति शब्द का हिंदी अर्थ है- होता है, हो रहा है।। उदाहरण के लिए- किं भवति?- क्या हो रहा है?


एव संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ
एव शब्द का हिंदी अर्थ- ही (निश्चय) होता है। उदाहरण के लिए- त्वम् एव माता= तुम ही माता हो।


तानि संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ
तानि शब्द नपुंसक लिंग बहुवचन में- वह, वे सब के लिए प्रयुक्त किया जाता है। उदाहरण- तानि फलानि सन्ति= वे फल हैं।


तौ संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ
तौ संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ- वे दोनों (पुलिंग) होता है। उदाहरण- तौ बालकौ = वे दो बालक आदि।


सन्ति संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ
सन्ति संस्कृत शब्द एक क्रिया पद है। सन्ति का मतलब "हैं" होता है। उदाहरण- कति जनाः सन्ति= कितने लोग हैं?आदि। 


संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ- पिकः
पिकः संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ कोयल होता है। पिकः कोयल को कहते हैं। उदहारण- पिकः मधुरं वदति= कोयल मीठा बोलती है।


संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ- अस्ति
अस्ति संस्कृत शब्द एकवचन का क्रियापद है। अस्ति को हिंदी में= "है" कहते हैं। उदाहरण- बालकः अस्ति= बालक है आदि।


संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ- चटका
चटका संस्कृत शब्द गौरिया चिड़िया के लिए प्रयोग किया जाता है। उदाहरण वाक्य- चटका चटका रे चटका, कुहु कुहु कूजति त्वं विहगा = हे आकाश में उड़ने वाली चिड़िया (गौरिया) तुम कुहु-कुहु कूजती हो।


संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ- केन
संस्कृत केन शब्द का हिंदी अर्थ= "किसके द्वारा" होता है। उदाहरण - इदं केन कृतम् = यह किसने किया।


आवाम का क्या अर्थ है?
आवाम का अर्थ होता है- हम दोनों। उदाहरण के लिए-आवाम् आगच्छावः= हम आते हैं।



देखना को संस्कृत में क्या बोलते हैं?
देखना को संस्कृत में= दर्शनम्, अवलोकनम्, प्रेक्षणम् आदि बोलते हैं। 


पहले को संस्कृत में क्या बोलते हैं?
पहले को संस्कृत में- पूर्वम्, पुरा, प्राक् आदि बोलते हैं। उदाहरण के लिए- पूर्वम् अधिकं तपः आसीत्।= पहले बहुत तपः था।


वानर को संस्कृत में क्या बोलते हैं?
वानर को संस्कृत में= वानरः, कपिः, मर्कटः आदि बोलते हैं। उदाहरण के लिए- वानरः धावति= बन्दर भागता है।



संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ पीडीएफ 📚❤ (Sanskrit Shabd ka Hindi Arth PDF)

प्रिय मित्राणि, हमें उम्मीद है आज का यह विषय आपको जरूर पसंद आया होगा। प्रिय पाठकों, आज के- संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ (Sanskrit Shabd 💚 Ka Hindi Arth) इस पाठ में विभिन्न संस्कृत शब्दों को सरलता व रोचकता से बताने का प्रयास किया गया। 

मित्रों, यदि आप संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ PDF रूप में डाउनलोड करना चाहते हों तो अपनी इस SanskritExam. Com वेबसाइट के मेनूबार PDF सेक्शन में जाएँ। जंहा से आप संस्कृत सीखने हेतु विभिन्न ‌पीडीएफ भी डाउनलोड कर सकते हैं। 

आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि यह SanskritExam.काॅम वेबसाइट विभिन्न संस्कृत प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु तथा संस्कृत को सरलता से जन-जन तक पहुँचाने के लिए संकल्पबद्ध है। इस संस्कृत एग्जाम वेबसाइट के साथ एक नयी उड़ान अवश्य भरें।


इसे भी देखें- ❤ विभिन्न संस्कृत पुस्तकों का PDF डाउनलोड करें  📚



संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ App📲

प्यारे मित्रों, वैंसे तो संस्कृत शब्दकोश के लिए गूगल प्ले स्टोर पर भी काफी App उपलब्ध हैं लेकिन हम आपको बताना चाहेंगे कि यदि आप सच में संस्कृत सीखना चाहते हैं तो उसके लिए सबसे बेहतर विकल्प है- आपको खुद से सीखने की ललक होनी जरूरी है। 

संस्कृत शब्द का हिंदी अर्थ जानने के लिए आजकल दो तीन वेबसाइट बहुत प्रसिद्ध हैं- LearnSanskrit वेबसाइट, SanskritExam.काॅम वेबसाइट आदि। रोजाना पांच वाक्य संस्कृत में जरूर बोलें। 

आप रोज फेसबुक व्हाटसप तो चलाते ही होंगे। एकबार यह नियम बना लें कि रोज एक टाइम सिर्फ पांच मिनट के लिए गूगल पर जाएँ- SanskritExam.Com टाइप करें। 

पहले ही नम्बर पर आपको यह वेबसाइट दिख जाएगी। मेनूबार में जाएँ और वीडियो, कहानियाँ, शब्दकोश, चुटकुले आदि सरल तरीकों से संस्कृत सीखें। आप सभी का हार्दः धन्यवादः। आइये, अपने ज्ञान को उच्च शिखर तक ले जाइये। 


प्रिय 💚 दर्शकों द्वारा पूछे गये- संस्कृत शब्दों से सम्बन्धित प्रश्न


  • ही को संस्कृत में क्या कहते हैं?
ही को संस्कृत में एव कहते हैं। वैंसे ही को संस्कृत में कहने के लिए काफी शब्द हैं। ही के लिए संस्कृत में प्रसंगानुसार एव, किल, खलु, हि आदि शब्दों का प्रयोग किया जाता है।

  • बकः का क्या अर्थ है?
बकः का अर्थ हिंदी में बगुला होता है। बगुला एक पक्षी होता है। संस्कृत में एक श्लोक भी प्रसिद्ध है- काकचेष्टा बकोध्यानम् श्वाननिद्रा तथैव च। इस श्लोक में बकोध्यान- बक शब्द का प्रयोग किया गया है। बकोध्यान का अर्थ होता है- बगुले की तरह ध्यान। 

  • आम को संस्कृत में कैंसे लिखते हैं?
आम को संस्कृत में काफी तरीकों से लिख सकते हैं। जैंसे कि- आम्रम्, आम्रफलम्, मधुरफलम्। आम्रफलं रे आम्रफलम्, मधुरं मधुरम् आम्रफलम्।।


  • 8 को संस्कृत में क्या बोलते हैं?
आठ कहने के लिए संस्कृत में बहुत तरीके हैं। 8 को संस्कृत में- अष्टौ, अष्ट, अष्टमः (आठवाँ) अष्टमी, अष्टमम् आदि कहते हैं। संस्कृत में गिनती (संख्याओं) को सरलता से सीखने के लिए यंहा क्लिक करें- संस्कृत में गिनती (सरल तरीका)

  • नारियल को संस्कृत में क्या कहते हैं?
नारियल को संस्कृत में नारिकेलम् कहते हैं। संस्कृत सभी भाषाओं की जननी है। 
अतः एक शब्द के लिए बहुत सारे शब्द देखने को मिलते हैं। नारियल को संस्कृत में- नारिकेलम्, नारिकेलफलम्, श्रीफलम्, जटाफलम् आदि भी कहते हैं।

  • अधिक को संस्कृत में क्या कहते हैं?
अधिक को संस्कृत में अधिकम् कहते हैं। इसी के साथ अधिक को संस्कृत में भृशम्, अत्यधिकम्, अधिकम्, बहु आदि भी कहते हैं।

  • यह को संस्कृत में क्या कहा जाता है?
यह को संस्कृत में सामान्य रूप से एतत् कहा जाता है। पुलिंग में यह का संस्कृत एषः, अयम् होता है। स्त्रीलिंग में यह का संस्कृत- एषा अथवा इयम् होता है। नपुंसक लिंग में यह का संस्कृत एतत् या इदम् होता है।

Post a Comment

6 Comments

  1. बहुत बढ़िया। 'हर दूसरे दिन'- संस्कृत में एक शब्द में क्या कहते हैं ?

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका हृदय की गहराइयों से धन्यवाद। हर दूसरे दिन= प्रतिदिनान्तरम्, प्रत्येकस्मिन् अपरदिने प्रत्येतरदिवसे - इत्यादि शब्द कह सकते हैं। हमें उम्मीद है - SanskritExam वेबसाइट पर आकर आपको अच्छा लगा होगा। जुड़े रहें , विजिट करते रहें। धन्यवादः।

      Delete
  2. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  3. Aaj sanskrit padh k maza aa gaya thanks sanskritexam.com

    ReplyDelete
  4. प्रतिदिन बोले जाने वाले शब्द कोष पढकर मे धन्य हो गया क्योकि बिना शब्द कोष के संस्कृत पढ पाना असंभव है
    ओर आप धन्यवाद के पात्र है

    ReplyDelete
  5. this was a really good and helpful collection and very easy to understand and learn. and video reference is more helpful if we want our kids to learn Sanskrit.

    ReplyDelete

आपको यह लेख (पोस्ट) कैंसा लगा? हमें कमेंट के माध्यम से अवश्य बताएँ। SanskritExam. Com वेबसाइट आपके कमेंट को दिल ❤ से प्यार करेगी।