Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain | Sangya Ke Kitne Prakar Hote Hain | संज्ञा के कितने भेद होते हैं उदाहरण सहित

Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain (Sangya Ke Kitne Prakar Hote Hain) संज्ञा के भेदों का वर्गीकरण

जय हो संज्ञा देवी की 😆🚩❤

किसी व्यक्ति, वस्तु, पदार्थ, स्थान आदि के नाम को संज्ञा कहते हैं। बचपन में शायद आपने भी यह जरूर पढा होगा। संज्ञा किसे कहते हैं इसके बारें में हम पिछले पाठ में चर्चा कर चुके हैं। आज के पाठ में हम संज्ञा के कितने भेद होते हैं?  (Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain) इसकी चर्चा करेंगे। 

प्रिय पाठकों, संज्ञा अर्थात् किसी का भी नाम, जैंसे कि - गीता, सीता, राम, श्याम, सोना, चांदी, आगरा, ताजमहल आदि। इस संसार जिस किसी वस्तु का कोई अस्तित्व है, हर वो चीज संज्ञा है। चाहे फिर वह कोई जगह हो, या नाम हो, या फिर कोई काम, या फि कोई गर्लफ्रेंड ❤ या ब्वाइफ्रेण्ड या कोई दुश्मन😡। सब संज्ञा देवी 😃 के अन्तर्गत आते हैं।

इसे भी दबाएँ- Sandhi Viched In Hindi (संधि विच्छेद को समझने का सबसे प्यारा तरीका 💓💚


यहाँ ध्यान देने योग्य बात यह है कि विभिन्न आधारों पर संज्ञा को भी विभिन्न भेदों में वर्गीकृत किया जाता है। अर्थात् जैंसे - ऐश्वर्या राय! यह एक नाम है और संज्ञा है लेकिन संज्ञा के भेद के अनुसार इसको व्यक्तिवाचक संज्ञा में रखा जाएगा। इसी प्रकार संज्ञा के बहुत से भेद होते हैं जिनकी आज हम विस्तारपूर्वक चर्चा करेंगे।


इसे भी दबाएँ- भाषा किसे कहते हैं? भाषा की परिभाषा- जान लो आज 💚


संज्ञा किसे कहते हैं? Sangya Kise Kahte Hain

दुनिया में हर एक नाम, हर एक काम संज्ञा है। जी हाँ, संज्ञा को ही अंग्रेजी में Noun भी कहा जाता है। किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान, भाव, क्रिया आदि के नाम को संज्ञा कहते हैं। उदाहरण के लिए-

  • व्यक्ति= राम
  • वस्तु= टेबल
  • स्थान= आगरा
  • भाव= ईमानदारी
  • क्रिया= मारना आदि।


इसे भी दबाएँ- विभक्ति क्या होती है? Vibhakti In Sanskrit 💚


ये उपरोक्त सभी संज्ञा शब्द हैं। अर्थात् एक विशेष पहचान बता रहे हैं। एक नाम है। अंग्रेजी में संज्ञा की परिभाषा बताते हुए कहते हैं कि Noun Is The Name Of Any Person, Place Or Thing. 

अर्थात् किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान के नाम को संज्ञा कहते हैं। चलिए, आज हमारा जो मुख्य विषय है। वह है - संज्ञा के भेद  Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain आज हम इसी विषय की मुख्यरूपेण चर्चा करेंगे। तो आइये, अब हम अपने मुख्य विषय की ओर आते हैं और जानते हैं संज्ञा के भेदों के बारें में।


इसे भी दबाएँ- पासवर्ड को हिंदी में क्या कहते हैं 🤔 💚


संज्ञा के कितने भेद होते हैं?  Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain

जब हम संज्ञा के भेदों की बात करते हैं तो संज्ञा के बहुत से भेद देखने को मिलते हैं लेकिन मुख्य रूप से संज्ञा के कितने भेद होते हैं। सबसे पहले हम यही जानेंगे। विभिन्न परीक्षाओं में संज्ञा व संज्ञा के भेद (प्रकार) से सम्बंधित बहुत प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं। 

अतः संज्ञा के बारें में आपको जरूर जानना चाहिए। तो चलिए, पहले बात करते हैं मुख्यतः संज्ञा के कितने भेद होते हैं- Sangya Ke Kitne Prakar Hote Hain

मुख्यतः संज्ञा के 3 तीन भेद होते हैं। ये तीन भेद निम्नलिखित हैं-

  • व्यक्तिवाचक संज्ञा (राम, श्याम आदि)
  • भाववाचक संज्ञा (अच्छाई, बुराई)
  • जातिवाचक संज्ञा (मानव, पशु)


उपरोक्त ये तीन भेद संज्ञा के मुख्य भेद हैं। ऐंसा नहीं है कि इनके अलावा संज्ञा के अन्य भेद नहीं हैं। इनके अतिरिक्त भी संज्ञा के कुछ अन्य भेद भी होते हैं लेकिन उनका समावेश भी इन्हीं तीनों भेदों में हो जाता है। 


इसे भी दबाएँ- Counting In Sanskrit (संस्कृत में गिनती सीखें 💚


संज्ञा के कुछ अन्य भेद (Sangya Kitne Prakar Hai)

मुख्य रूप से तो संज्ञा के तीन ही प्रकार होते हैं लेकिन उपरोक्त तीन प्रकारों में से जातिवाचक के कुछ अन्य भेद भी होते हैं। अर्थात जातिवाचक संज्ञा के भी दो उपभेद होते हैं।

  • 1- समूहवाचक संज्ञा
  • 2- द्रव्यवाचक संज्ञा


इसे भी दबाएँ- निपात किसे कहते हैं? निपात शब्द का पूरा परिचय 💚


जातिवाचक संज्ञा का पहला भेद- समूहवाचक संज्ञा

यह संज्ञा के एक अतिरिक्त भेद है जो कि जातिवाचक के अन्तर्गत आता है। समूहवाचक संज्ञा से अभिप्राय है कि जंहा समूह का बोध होता है। एक समुदाय का बोध होता है। एक झुण्ड का उल्लेख होता है। उसे समूहवाचक संज्ञा के अन्तर्गत रखा जाता है।


जातिवाचक संज्ञा का दूसरा भेद- द्रव्यवाचक संज्ञा

जैंसा कि नाम से ज्ञात होता है- द्रव्य। द्रव्य अर्थात् कोई पदार्थ जैंसे कि दाल, चावल, तेल आदि। जितने भी द्रव्य होते हैं उनको द्रव्यवाचक संज्ञा के अन्तर्गतरखा जाता है।


इसे भी दबाएँ-  रामायण के रचयिता कौन थे? सच्चाई जान लो 💚


संज्ञा के कितने भेेद होते हैं उदाहरण सहित (Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain With Examples)

प्यारे पाठकों, अभी तक हमने संज्ञा के कितने भेद होते हैं (Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain) इसकी चर्चा की। आइये, अब हम संज्ञा के सभी भेदों को उदाहरण सहित समझने का प्रयास करेंगे।


इसे भी दबाएँ- समास का रोचक परिचय- अब समास व समास के भेदों को कभी नहीं भूलोगे 💚


संज्ञा का पहला भेद उदाहरण सहित- व्यक्तिवाचक संज्ञा

व्यक्तिवाचक शब्द से ही पता चल जाता है कि इसमें किसी व्यक्तिविशेष का नाम आता है। जी हाँ, किसी व्यक्ति का नाम, किसी जगह का नाम, किसी वस्तु का नाम ही व्यक्तिवाचक संज्ञा कहलाती है। उदाहरण के लिए- राम (व्यक्ति), सीता (व्यक्ति), ताजमहल (स्थान), गीता (पुस्तक का नाम) आदि। 

उदाहरण सहित- स्पष्टीकरण

व्यक्तिवाचक संज्ञा को और अधिक सरलता से समझने के लिए कुछ और उदाहरण देखते हैं-

  • राम प्रिया से बहुत ❤ प्यार करता है।

इस वाक्य में राम और प्रिया दोनों संज्ञा शब्द हैं। अगर हम इस वाक्य को दूसरे तरीके से कहें तो संज्ञा बदल जाएगी-

  • राम उस लडकी से ❤ प्यार करता है।

अब इस वाक्य में प्रिया की जगह में लडकी कहा। लडकी कहने से यह जातिवाचक संज्ञा हो गयी लेकिन जब हम लड़की का नाम (प्रिया) कह देते हैं तो नाम विशेष होने से व्यक्तिवाचक संज्ञा होती है।


इसे भी दबाएँ-  पुराणों की संख्या कितनी है? समझ लो रहस्य 💚


संज्ञा का दूसरा भेद उदाहरण सहित- भाववाचक संज्ञा

भाववाचक शब्द से स्पष्ट संकेतित हो रहा है कि इस संज्ञा में भाव वाचक शब्द होते हैं। जी हाँ,भाववाचक संज्ञा के अन्तर्गत ऐंसे शब्द आते हैं जिनसे किसी गुण, धर्म, दशा,भाव आदि का बोध होता है। उदाहरण के लिए- अच्छाई, बुराई, उदासी, बेचैन आदि। 

भाववाचक संज्ञा को पहचानने व बनाने का सबसे आसान तरीका है- विशेषण में प्रत्यय लगाना। जी हाँ, जैंसे कि अच्छा, बुरा, बेचैन, उदास ये सब विशेषण हैं। इनसे जो संज्ञा बनती है। उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं। यथा- अच्छा से अच्छाई, बुरा से बुराई, उदास से उदासी, बूढा से बुढापा, बच्चा से बचपन, लम्बा से लम्बाई, बेचैन से बेचैनी आदि।


उदाहरण वाक्य प्रयोग- मनीष की उदासी का कारण प्रीति से दूर 💔 हो जाना है। इस वाक्य में - मनीष व प्रीति (व्यक्तिवाचक संज्ञा), उदासी- भाववाचक संज्ञा का उदाहरण है।


इसे भी दबाएँ-  भगवत गीता के सभी अध्यायों का नाम व श्लोक संख्या 💚


संज्ञा का तीसरा भेद उदाहरण सहित- जातिवाचक संज्ञा

जिन संज्ञा शब्दों से किसी जाति, समूह आदि का बोध होता है उसे जातिवाचक संज्ञा कहते हैं। उदाहरण के लिए- मनुष्य (एक जाति), ब्राह्मण (एक जाति), लड़की (एक जाति), स्त्री (जाति) आदि‌। इस प्रकार जातिवाचक संज्ञा शब्दों से किसी जाति अथवा समुदाय का बोध होता है।


उदाहरण वाक्य- वाक्यप्रयोग के रूप में जातिवाचक संज्ञा का एक उदाहरण यह देखा जा सकता है। प्रिया एक सुन्दर 👌 लड़की 👸 है।

इस वाक्य में प्रिया एक नाम है। अतः व्यक्तिवाचक संज्ञा है लेकिन सुन्दर लड़की में लड़की शब्द जातिवाचक संज्ञा का उदाहरण है।


इसे भी दबाएँ- Hindi To Sanskrit Translation( (हिंदी से संस्कृत अनुवाद सीखें) 💚


जातिवाचक संज्ञा के भेद उदाहरण सहित (Jativachak Sangya Ke Bhed Udaharan Sahit)

जैंसे कि हमने शुरु में बताया कि जातिवाचक संज्ञा के दो भेद होते हैं। समूहवाचक संज्ञा और द्रव्यवाचक संज्ञा। तो आइये, सबसे पहले समूहवाचक संज्ञा को समझते हैं-

जातिवाचक संज्ञा का पहला भेद- समूहवाचक संज्ञा

इस संज्ञा में किसी समूह का बोध कराने वाले शब्दों का उपयोग किया जाता है।अर्थात् समूहवाचक संज्ञा शब्दों से किसी समूह, समुदाय आदि का बोध होता है। उदाहरण के लिए- सेना, समिति, बैठक, आयोग आदि।

उदाहरण वाक्य- चलिए, अब समूहवाचक संज्ञा को एक वाक्य प्रयोग के रूप में समझते हैं। भारत के राष्ट्रपति ने थलसेना की एक बैठका आयोजित करवायी। इस वाक्य में थल सेना - समूहवाचक संज्ञा शब्द है।


इसे भी दबाएँ-  शीघ्र धनप्राप्ति के लिए श्रीसूक्त का पाठ करें- Sri Suktam PDF 💚


जातिवाचक संज्ञा का दूसरा भेद- द्रव्यवाचक संज्ञा

जिन संज्ञा शब्दों से धातु, द्रव्य, पदार्थ, सामग्री का बोध होता है। उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते हैं। उदाहरण के लिए-

  • दाल (एक द्रव्यपदार्थ)
  • लोहा (एक धातु)
  • तेल (द्रव्य)
  • घी (सामग्री) आदि।


उदाहरण वाक्य प्रयोग- चलिए, अब द्रव्यवाचक संज्ञा को समझने के लिए एक उदाहरण का प्रयोग करते हैं। यथा- रमेश ने दुकान से दो किलो चावल लिए। इस वाक्य में चावल द्रव्यवाचक संज्ञा का उदाहरण है।


इसे भी दबाएँ-  हनुमान चालीसा के समझ लो रहस्य, हनुमान चालीसा परिचय, पुस्तक PDF 💚


संज्ञा के भेदों से सम्बंधित पूछे गये रोचक प्रश्न (FAQ's)


  • सैषव में कौन सी संग्या है

शैशव शब्द में भाववाचक संज्ञा है। शैशव एक दशा का बोध कराता है। अतः भाववाचक संज्ञा है।


  • Sangya Ke Pramukh Bhed Konsa Hai

संज्ञा के प्रमुख भेद तीन हैं। जो कि निम्नलिखित हैं- 

  • 1- व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • 2- भाववाचक संज्ञा
  • 3- जातिवाचक संज्ञा


इसे भी दबाएँ-  महाभारत के रचयिता कौन हैं? पूरा इतिहास जानने के लिए दबाएँ 💚


  • Dahi Konsa Sangya Bhed Hai

दही द्रव्यवाचक संज्ञा का उदाहरण है। जातिवाचक का ही एक भेद है- द्रव्यवाचक। दही एक द्रव्य है। अतः द्रव्यवाचक संज्ञा का उदाहरण है।


  • Mount Everest Ka Sangya Bhed Kya Hoga

माउण्ट एवरेस्ट का संज्ञा भेद व्यक्तिवाचक संज्ञा होगा। माउण्ट एवरेस्ट एक विशेष जगह का नाम है। अतः व्यक्तिवाचक संज्ञा है।


  • Jamuna Ke Pul Par Kuch Aadmi Pakde Gaye Sangya Ke Bhed Pehchainye

जमुना के पुल पर कुछ आदमी पकड़े गये। इस वाक्य में संज्ञा के भेद निम्न हैं-

  • जमुना - व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • आदमी- जातिवाचक संज्ञा
  • पुल- जातिवाचक संज्ञा


इसे भी दबाएँ-  सृष्टि की रचना कैंसे हुई- पढें पुरुष सूक्त PDF💚


  • Rajiv And Priyanka Are Brother Sister Isme Se Common And Proper Noun Konsa Hai

Rajiv And Priyanka Are Brother Sister इनमें काॅमन नाउन अर्थात् जातिवाचक संज्ञा है- भाई और बहन (Brother Sister) । एवं प्राॅपर नाउन (व्यक्तिवाचक संज्ञा) है- राजीव और प्रियंका Rajiv And Priyanka


इसे भी दबाएँ-  संस्कृत कारक व विभक्ति पहचानने का नया तरीका - Vibhakti In Sanskrit 💓💚


Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain (संज्ञा के भेद) Video Tutorial

Video Source- YouTube Nidhi Academy

आपको ये भी जरूर पसंद आ सकते हैं- क्लिक करके तो देखो, जरा 👇👇


घर बैठे संस्कृत बोलना सीखें- निःशुल्क♐



CLICK HERE

 


क्या रामायण के रचयिता- वाल्मीकि एक डाकू थे? पूरा पढें ♐



CLICK HERE

 


संधि 💔विच्छेद किसे कहते हैं- पूरी कथा ♐


CLICK HERE



समास किसे कहते हैं- समास के भेद ♐


CLICK HERE

 




निष्कर्ष- संज्ञा के भेद (Sangya Ke Prakar)

इस प्रकार Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain (संज्ञा के कितने भेद होते हैं)आज के इस लेख में हमने संज्ञा के सभी भेदों व  की चर्चा की। साथ ही संज्ञा के भेदों को उदाहरण सहित समझाने कोशिश की। संज्ञा के भेदों  से सम्बंधित प्रश्न विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में अक्सर पूछे जाते हैं। 

अतः संज्ञा के भेदों के बारें में आपको अवश्य पढना चाहिए। संज्ञा के प्रत्येक भेद को विस्तार से समझने के लिए आप हमारी वेबसाइट पर अन्य लेख पढ सकते हैं। हमें उम्मीद है Sangya Ke Kitne Bhed Hote Hain आज का यह विषय आपको पसंद आया होगा।




Post a Comment

2 Comments

  1. सन्धि के बारें में विस्तार पूर्वक जानने के लिए यहां पर search कर सकते हैं

    ReplyDelete
    Replies
    1. Aap yaha bhi jankari le sakte hain.
      https://hindigranalysis.blogspot.com thanks

      Delete

आपको यह लेख (पोस्ट) कैंसा लगा? हमें कमेंट के माध्यम से अवश्य बताएँ। SanskritExam. Com वेबसाइट शीघ्र ही आपके कमेंट का जवाब देगी। ❤