कलयुग कितना बाकी है •• कलयुग कितना बीत चुका है व कितना बाकी ? | घोर कलियुग कब आएगा 😳

कलयुग कितना बाकी है •• कलयुग कितना बीत चुका है व कितना बाकी ? घोर कलियुग कब आएगा 😳❓

राम तेरि गंगा मैलि हो गयी पापियों के पाप धोते धोते। लता मंगेशकर के इन प्यारे सुरों ने सच ही कहा है। कलयुग में पाप बहुत बढ गये हैं। एक ओर पापी अपनी अंधी दौड़ में भाग रहे हैं तो दूसरी ओर साधु, संत, सज्जन लोग यह सोचते रहते हैं कि कलयुग कब जाएगा। कलयुग कितना बाकी है? हे भगवान! ये कलयुग खत्म हो जाये जल्दी। 


जी हाँ, हर सज्जन व्यक्ति यही चाहता है कि कलयुग कब बीतेगा। परन्तु चाहने से थोड़े कलियुग चला जाएगा। ब्रह्मा जी की इस सृष्टि में हर चीज को काल (समय) के अंदर बाँध रखा है। फिर चाहे वो जीव जंतु हों या प्रकृति अथवा काल। यहाँ तक कि काल को भी निर्धारित किया गया है। पुराण व धर्मशास्त्र में कालखण्ड को चार भागों में बाँटा गया है।

  1. सतयुग
  2. त्रेतायुग
  3. द्वापर युग
  4. कलयुग


उपरोक्त चारों युगों का समय भी निश्चित व पूर्वनिर्धारित है। इन चारों युगों का कितना कितना समय होता है। आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं और हाँ,, ,, विशेषकर कलयुग को लेकर तो आपके मन में अक्सर यह सवाल आता ही होगा कि कलयुग कितना बाकी है, 

कलयुग के कितने साल बाकी हैं- इस प्रकार के सवाल आपके मन में भी अवश्य आते होंगे। कलयुग कितना बाकी है व कितना बीत चुका है - यह तो हम आपको बताएंगे ही, लेकिन कलयुग से पहले- सतयुग, त्रेता युग व द्वापर युग - इनके बारें में भी थोड़ा जान लीजिए। 


चार युग क्या हैं- परिचय व रहस्य

हिंदू धर्म में कालगणना अत्यंत ही गंभीर व सूक्ष्म अति सूक्ष्म चिंतन है। चार युगों को समझने से पहले ब्रह्मा की इस सृष्टि अथवा ब्रह्मांड को समझना आवश्यक है। ब्रह्मा जी का दिन एक कल्प में होता है। ऐसे ही ब्रह्मा जी का दूसरे कल्प में रात होती है। 

इस प्रकार ब्रह्मा जी के दिन रात 2 कल्पों में होती है। एक कल्प में 14 मनु होते हैं और एक मन्वंतर में 71 चतुर्युगी होते हैं। 14 मन्वन्तर में से वर्तमान में सातवां वैवस्वत मनु चल रहा है। इस सातवें मन्वंतर का 28 वा चतुर्युगी अभी चल रहा है। 

चतुर्युगी का मतलब होता है चार युग का एक समूह। अर्थात सतयुग, त्रेतायुग द्वापरयुग एवं कलयुग। इस प्रकार वर्तमान में यह 28 वां कलयुग चल रहा है। चारों युगों की वर्ष संख्या भी पूर्व निर्धारित है। मनुस्मृति में भी चार युगों की आयु के बारे में बताया गया है। आइये, जानते हैं चारों युगों की आयु।


सतयुग की आयु कितनी है

सतयुग को कृतयुग भी कहा जाता है। इस युग में धर्म के चारों चरण विद्यमान थे। पाप बहुत ही कम मात्रा में पाया जाता है। या यूं कहें कि पाप ना के बराबर होता है।। 

सतयुग की आयु 17 लाख 28 हजार वर्ष है। आपको यह जानकर हैरानी होगी किस सतयुग में सामान्य मानव की आयु 1 लाख वर्ष होती थी। इससे यह बात स्पष्ट होती है कि युग के अनुसार इंसान की आयु भी घटती है।


त्रेता युग की आयु कितनी है ? 

सतयुग के बाद दूसरा युग त्रेता युग आता है। त्रेता युग की आयु 12 लाख 96 हजार साल निश्चित की गई है। रोचक बात है कि त्रेता युग में इंसान की उम्र 10,000 साल होती थी।


द्वापर युग की आयु कितनी है

द्वापर युग की आयु 8,64,000 वर्ष मानी गई है। द्वापर युग में भगवान कृष्ण अवतरित हुए थे। द्वापर युग में इंसान की उम्र घटकर 1,000 साल हो गयी।

कलयुग कितना बाकी है •• कलयुग कितना बीत चुका है व कितना बाकी ?


कलयुग की आयु कितनी है

प्रिय पाठकों, कलयुग को लेकर आपके मन में भी बहुत सारे सवाल होते होंगे कि कलयुग कितना बाकी है, कितना बीत चुका है, घोर कलयुग कब आएगा, वर्तमान में कलयुग का कौन सा वर्ष चल रहा है- इत्यादि सवाल आपके मन में भी जागते होंगे। आइए जानते हैं, कलयुग की आयु कितनी है।

कलयुग का आयु परिमाण 4,32,000 वर्ष है। हैरानी की बात है कि कलयुग में इंसान की उम्र और घटकर 100 वर्ष हो गयी। आपने देखा होगा कि सतयुग में इंसान की उम्र 1 लाख वर्ष होती थी। त्रेता युग में 10,000 वर्ष एवं द्वापर युग में 1,000 वर्ष होती थी। 

लेकिन कलयुग के चलते चलते इंसान की उम्र भी घटते क्रम में चली गई। कलयुग में इंसान की उम्र 100 वर्ष हो गई और जैसे-जैसे घोर कलयुग आता है तो यह 100 वर्ष से 50 वर्ष और 50 वर्ष से 25 वर्ष तक भी आ जाती है। 

अतः घोर कलयुग में इंसान की उम्र 20 से 25 वर्ष हो जाएगी। आइए, अब जानते हैं कलयुग कितना बाकी है व घोर कलयुग कब आएगा।


कलयुग कितना बाकी है 😳🤔 ❓

जैसे कि अभी अभी हमने आपको बताया कि कलयुग की आयु 4 लाख 32 हजार वर्ष है। अभी तक कलयुग के केवल 5,122 साल ही बीते हैं। अर्थात कलयुग के अभी भी चार लाख 26 हजार 878 साल बाकी हैं। 

अब आप खुद ही समझ सकते हैं कि अभी तो कलयुग का छोटा सा भाग भी नहीं गया है और अभी से ही ऐसा लगता है कि मानो घोर कलयुग आ गया हो। 

चारों ओर पाप अत्याचार देखकर यही प्रतीत होता है कि अब कलयुग खत्म होने वाला है लेकिन नहीं,,,, अभी तो कलयुग के लाखो वर्ष बाकी हैं। इस दृष्टि से आप स्वयं समझ सकते हैं कि जब घोर कलयुग आएगा तो स्थिति कैसी होगी। 

हैरानी की बात यह है कि इंसान को भी इतनी बार धरती पर दोबारा दोबारा जन्म लेना पड़ता है। इसी जन्म मृत्यु के बंधन से बचने के लिए शास्त्रों में मोक्ष की बातें की गई हैं। 

अतः कलयुग में भगवान की पूजा अवश्य करें। इससे विशेष फल की प्राप्ति होती है यदि आपको पता नहीं है कलयुग में किस भगवान की पूजा करने से विशेष फल मिलते हैं तो यहां क्लिक करें- कलयुग में किसकी पूजा करनी चाहिए?


कलयुग का अंत कब होगा व घोर कलयुग कब आएगा

घोर कलयुग आने में अभी बहुत समय बाकी है। वैसे तो समाज में देखने से पता चलता है कि मानो कलयुग का अंत होने वाला हो। चारों तरफ पाप ही पाप बढ़ रहा है। 

कहीं बीमारी से लोग त्रस्त हैं। कहीं मर्डर केस हो रहे हैं। छोटी-छोटी बच्चियों का बलात्कार हो रहा है। पुरुषों की पराई स्त्री के प्रति कुदृष्टि बनी हुई है- इन सब को देख कर लगता है कि शायद कलयुग का अंत होने वाला है 

लेकिन यकीन मानिए,,,, अभी तो यह कलयुग की शुरुआत मात्र है। जब इतनी शुरुआत में ही इतना भयंकर विकराल रूप कलयुग का दिख रहा है तो कल्पना कीजिए,,, जब घोर कलयुग आएगा तो कितनी भयंकर स्थिति होगी‌।

इन्हें भी देखें 👇👇


घोर कलयुग कब व कैसे आएगा / कलयुग का अंत

घोर कलयुग आने में अभी बहुत समय बाकी है लेकिन एक बात सर्वथा सत्य है कि चाहे कलयुग की अभी शुरुआत ही हो लेकिन कलयुग की शुरुआत भी बहुत भयंकर है। 

इसका यह कारण है कि कलयुग में धर्म का केवल एक ही चरण होता है। बाकी सब पाप ही पाप होता है। अतः अभी भी ऐसा लगता है कि कलयुग का अंत होने वाला है। 

तो सोचिए, जब घोर कलयुग आएगा तो मनुष्य जीवन नरक जैसा बन जाएगा। हिंदू धर्मशास्त्रों और पुराणों के अनुसार घोर कलियुग में इंसान की अधिकतम उम्र 5 वर्ष तक हो जाएगी। एक इंसान अपने ही सगे संबंधियों को मारने काटने के लिए तैयार हो जाएगा। 

गाय के थन से दूध की एक बूंद भी नहीं निकलेगी। गंगा का जल पूर्ण रूप से सूख जाएगा। नदी, तालाब, पानी,सरोवर आदि सब कुछ सूख जाएंगे। पृथ्वी पर त्राहि माम् ,, त्राहि माम् से संपूर्ण सृष्टि एक दूसरे पर टूट पड़ेगी। 

घोर कलयुग आने पर एक ही परिवार में मां बेटी, भाई बहन आदि का पवित्र संबंध भी व्यभिचार अश्लीलता एवं कामवासना जैसे दुष्कर्म का शिकार हो जाएगा। ऐसे घोर कलयुग में ही भगवान कल्कि का अवतार होगा और पुनः कलयुग के अंत के बाद सतयुग की शुरुआत होगी।


प्यारे मित्रों आज के इस लेख में आपने कलयुग कितना बाकी है, घोर कलयुग कब आएगा, कलयुग का अंत कैसे होगा, कलयुग के कितने साल बीत चुके हैं व कितने बाकी हैं इत्यादि गूढ एवं रोचक रहस्य भरी बातें जानी। हमारे प्रिय पाठकों ने कलयुग से जुड़े कुछ विशेष रोचक प्यारे-प्यारे सवाल पूछे हैं। आइए, इन सवाल जवाब को भी पढ़िए।


  • नमस्ते सर, मेरा नाम रजनी है। कृपया मुझे बताइए कि अभी- कलयुग का कौन सा वर्ष चल रहा है?

आदरणीय रजनी जी,, आपके प्रश्न का स्वागत है। आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि अभी तक कलयुग के 5,122 वर्ष बीत चुके हैं अतः अभी कलयुग का 5123 वां वर्ष चल रहा है।


  • सर जी, कृपया यह बताइए कि 1 युग में कितने वर्ष होते हैं।

प्रिय पाठक, हम आपको बताना चाहेंगे कि चारों युगों का परिमाण अलग अलग है। सतयुग की वर्ष संख्या अलग है तो त्रेता की वर्षा संख्या अलग है। जो कि हमने पहले ही बता दिया है। अतः आप इस लेख को शुरू से अवश्य पढ़ें।


  • सर, आपको कोटि-कोटि प्रणाम। मैं यह जानना चाहती हूं कि कलयुग में इतना अत्याचार एवं पाप  बढ़ता जा रहा है,, तो ऐसे में- कलयुग में मनुष्य का कल्याण कैसे होगा?

प्रिय मांडवी जी,, आपका सवाल बहुत ही रोचक है। कलयुग में बहुत अत्याचार एवं दुष्कर्म हो रहे हैं। ऐसी स्थिति में कलयुग में मनुष्य का कल्याण सत्कर्म करने से एवं परमात्मा अथवा ईश्वर का भजन करने से ही होगा। मानव को चाहिए कि वह कल्याण के लिए सन्मार्ग पर चलें।


  • सर, मैं मनीषा यह जानना चाहती हूं कि कलयुग में श्राप क्यों नहीं लगता?

मनीषा जी, आपके प्रश्न ने हृदय को गदगद कर दिया है। वास्तव में यह प्रश्न काफी रोचक है कि कलयुग में श्राप क्यों नहीं लगता है। आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि कलयुग में धर्म व सत्य का कोई अस्तित्व स्पष्ट नहीं होता है। धर्म का मात्र एक ही चरण है। सत्य तो कलयुग में मानो है ही नहीं। ऐसी स्थिति में श्राप तो बिल्कुल भी नहीं लग सकता है। 


  • सर, मैं मनोज आपको प्रणाम करता हूँ‌। मुझे यह बताइए कि कलयुग कितना बीत चुका है 2021?

मनोज जी,, चारों युगों की आयु के विषय में हमने पहले ही जानकारी विस्तार पूर्वक दे दी है। कलयुग की बात करें तो अभी तक कलयुग के 5,122 वर्ष बीत चुके हैं। 


  • सर, मेरा नाम आराधना है। मैं गुजरात से हूँ। सर आपको बहुत-बहुत प्रणाम। आपकी यह वेबसाइट हमारे लिए बहुत ही ज्यादा उपयोगी है। आपकी इस वेबसाइट पर सनातन धर्म से जुड़ी विभिन्न प्रकार की जानकारी एवं संस्कृत जैंसी दिव्य सनातन भाषा को सीखने के लिए नए नए आयाम प्रस्तुत किए गए हैं। इसके लिए मैं आपको तहदिल से धन्यवाद देना चाहती हूँ। सर मैंने सुना है कि अभी कलयुग का प्रथम चरण ही चल रहा है तो सर कृपया कर मुझे यह बताइए कि कलयुग का दूसरा चरण कब लगेगा

प्रिय आराधना जी,, आपका बहुत-बहुत स्वागत एवं धन्यवाद करते हैं। कलयुग की आयु के विषय में तो हमने विस्तार पूर्वक बता दिया है। कलयुग कितना बाकी है - यह भी बता दिया है। आराधना जी,, 

आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि कलयुग के चार चरण हैं जिनमें से अभी प्रथम चरण ही चल रहा है। कलयुग का दूसरा चरण लगने में हजारों वर्षों का समय अभी बाकी है। इसको समझने के लिए कलयुग की आयु को 4 से विभाजित कर दीजिए। आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

इन्हें भी देखें 👇👇

Post a Comment

2 Comments

  1. कलियुग में भी श्राप लगता है पर वो श्राप देने वाले पर ही निर्भर करता है
    श्राप ऐसे मुह से कुछ भी नही लगता वो एक तरह से बड़बोला वाली बात है अतः श्राप पीड़ित की अंतरात्मा से निकलता है

    ReplyDelete

आपको यह लेख (पोस्ट) कैंसा लगा? हमें कमेंट के माध्यम से अवश्य बताएँ। SanskritExam. Com वेबसाइट शीघ्र ही आपके कमेंट का जवाब देगी। ❤