ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप कैसे करना चाहिए- जानें पूरी विधि

ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप कैसे करते हैं- जानें पूरी विधि, ओम नमः शिवाय का जाप कब करना चाहिए, औरतों को ओम नमः शिवाय बोलना चाहिए कि नहीं

क्या आप भी भगवान भोलेनाथ के भक्त हैं, उनके ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करते हैं या करना चाहते हैं तो आपको ॐ नमः शिवाय मंत्र के जाप करने से पहले इस मंत्र की जाप विधि के बारें में जरूर जानना चाहिए। 

जी हां, यहाँ हम आपको ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप कैसे करना चाहिए, ओम नमः शिवाय का जाप एक दिन में कितनी बार करना है?...

ओम नमः शिवाय का जाप किस दिन करना है?, ओम नमः शिवाय का जाप किस माला से करना चाहिए इत्यादि ॐ नमः शिवाय मंत्र से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी दी जा रही है। 

अतः यदि आप भी भोले बाबा के भक्त हैं तो यहाँ बताई जाने वाली- ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप कैसे करना चाहिए? से सम्बंधित जानकारी ध्यानपूर्वक पढें।

Click- सैकडों व्रत कथा व पूजा विधि PDF डाउनलोड करें

Click - सनातन धर्म, व्रत व मंत्रों से जुड़े रहस्य जानें।

Click- सम्पूर्ण पूजन विधि, सामग्री, मंत्र, आरती, स्तोत्र आदि

Click- ज्योतिष- कुण्डली, कालसर्प दोष, राशिफल 


ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप कैसे करना चाहिए?

ॐ नमः शिवाय का जाप करना इतना आसान नहीं है। इसके लिए आपको इस मंत्र की सटीका जप विधि का पता होना चाहिए। ॐ नमः शिवाय का जाप इस प्रकार करें-

  1. अपनी बाह्य एवं आन्तरिक शुद्धि करें।
  2. अपनी जगह या अपने आसन को स्वच्छ बनाएं। 
  3. भगवान शिव की फोटो या मूर्ति के सामने फूल पुष्प चढाएं। 
  4. धूप अगरबत्ती गुग्गल आदि की सुगन्ध दें।
  5. गौमुखी या माला दाहिने हाथ में धारण करें।
  6. करमाला से भी जाप कर सकते हैं।
  7. इसके बाद 108 बार रोजाना ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करें।


ओम नमः शिवाय मंत्र में कितनी शक्ति है

ॐ नमः शिवाय मंत्र कोई साधारण मंत्र नहीं है। यह मंत्र मानव को समस्त कर्मबन्धनों के पाश से मुक्त करने की क्षमता रखता है। इहलौकिक सभी प्रकार की कामनाएं इस मंत्र के एक महीने जाप करने में ही पूर्ण होने लगती हैं। 

जी हां, इसका अनुभव आपको खुद कुछ समय बाद होने लग जाएगा कि इस मंत्र में कितनी शक्ति है। 

वास्तव में यह मंत्र शक्ति स्वरूपा मां पार्वती के परम वल्लभ शिव आदियोगी का परम शक्तिशाली चमत्कारिक मंत्र है।


ओम नमः शिवाय का जाप कब करना चाहिए

ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप आप श्रद्धा भाव से कभी भी कर सकते हैं। मन की पवित्रता व तन की शुद्धि आवश्यक है। 

विशेष इच्छा के लिए ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप सोमवार के दिन करना चाहिए।

इन्हें भी देखें 👇👇


ओम नमः शिवाय का जाप एक दिन में कितनी बार करना है?

यदि आपको इस बात का सन्देह है कि ॐ नमः शिवाय मंत्र का एक दिन में कितनी बार जप करना चाहिए तो हम आपको बता दें कि आप इस मंत्र को प्रतिदिन 11 बार से लेकर. 108 बार तक जप सकते हैं। 

यह आपकी श्रद्धा भक्ति व क्षमता पर निर्भर करता है कि आप कितना जाप कर सकते हैं।


ओम नमः शिवाय का जाप किस माला से करना चाहिए

ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप हमेशा रुद्राक्ष माला से ही करना चाहिए। हो सके तो एक मुखी रुद्राक्ष से ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करें। यह बहुत ही अनोखे फायदे करता है एवं अतिशीघ्र मनोकामना पूर्ण करता है। 


औरतों को ओम नमः शिवाय बोलना चाहिए कि नहीं

यदि आप एक महिला हैं या कुँवारी लड़की हैं और आपको ओम नमः शिवाय मंत्र के जाप को लेकर सन्देह है। 

तो जानिए- शास्त्र के अनुसार ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप औरत या लड़कियाँ भी कर सकती हैं। इसमें किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं है।

 चाहें आप कोई भी हों आप इस मंत्र का जाप कर सकते हैं। भगवान भोलेनाथ का दरबार आप सबके लिए सदैव खुला है।


प्रिय पाठकों, आज के इस विषय में हमने आपको ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप कैसे करना चाहिए? , ॐ नमः शिवाय का जप कौन कौन कर सकता है? क्या लड़कियाँ ओम नमः शिवाय का जाप कर सकती हैं, ओम नमः शिवाय का जाप किस दिन करना है? 

इत्यादि ॐ नमः शिवाय मंत्र के जाप से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की गयी। 

इसके अलावा मंत्र, पूजन, कर्मकांड, हस्त रेखा, कुण्डली विज्ञान, ज्योतिष, राशिफल आदि से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए इस वेबसाइट के मेनूबार में अवश्य जाएं। 

इन्हें भी देखें 👇

Click- सैकडों व्रत कथा व पूजा विधि PDF डाउनलोड करें

Click - सनातन धर्म, व्रत व मंत्रों से जुड़े रहस्य जानें।

Click- सम्पूर्ण पूजन विधि, सामग्री, मंत्र, आरती, स्तोत्र आदि

Click- ज्योतिष- कुण्डली, कालसर्प दोष, राशिफल 


Post a Comment

0 Comments