बेटी पर कविता - दिल को छू लेने वाली | Emotional Poem On Daughter In Hindi | Beti Par Kavita

बेटी पर कविता - दिल को छू लेने वाली, Emotional Poem On Daughter In Hindi , पुत्री पर कविता , Beti Par Kavita In Hindi , Maa Beti Par Kavita

एक बेटी के आने से मां के आंगन में किस प्रकार ढेर सारी खुशियों के फूल खिलने लगते हैं। इसका मार्मिक एवं अलंकारिक वर्णन मध्य प्रदेश के रहने वाले ख्याति प्राप्त कवि आशीष शुक्ला द्वारा निम्न कविता में चित्रित किया गया है। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आशीष शुक्ला हिंदी भाषा की विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में एवं पुस्तकों में ढेर सारी दिलचस्प कविताएं प्रकाशित कर चुके हैं। 

SanskritExam. Com वेबसाइट पर उनकी यह "बेटी पर - दिल को छू लेने वाली कविता" Emotional Poem On Daughter In Hindi उनके द्वारा प्रस्तुत की गई है। Beti Par Kavita In Hindi , Maa Beti Par Kavita



बेटी पर कविता

पापा के आंगन में पली, पढ़ लिखकर आगे चली, 

बाबुल से दूर जा रही है , घर के फूल की कली |


बहुत ही शैतान है वो, लेकिन माँ की रानी, 

उसकी हर जिद लगे, हॉं हमको नादानी |

काम ऐसे करे कि, जिससे लगे सयानी, 

उसकी हर घटना में, लिख जाए कहानी|


बात- बात में हॅंस- हॅंस  के करे मनमानी, 

पर आने न दे , अपनी माँ के ऑंखों में पानी|

अपने पापा की कहलाती है वो प्यारी परी, 

उनके सब सपनों के लिए, उतरे वो खरी |


उसे डर हमेशा परिवार से दूर जाने का रहे, 

एक लड़की अपनों के लिए सब कुछ सहे |

गाँव की गलियों में खेली भाई के संग, 

और सभी को लगाए अपने प्रेम के रंग|


जब विवाह का समय है आया, मन उसका घबराया, 

प्रार्थना की उसने रब से, छूटे न पापा का साया |

हे विधाता तुमनें यह नियम कैसा है बनाया, 

पहले मिलाया ,फिर क्यों अपनों से दूर कराया |


बचपन की वो बातें याद हमें ही आऍंगी, 

आने वाले पल-पल में बहुत ही रुलाऍंगी|

ए विधाता रोऍंगें हम, और चीख तुम्हें सताएगी

बेटी जब भी बाबुल का घर छोड़कर जाएगी |


पापा आपने पढ़ाया और चलना भी सिखाया, 

जब आ जाते ऑंसू तो, हमें आपने है हॅंसाया |

आपकी खुशी के लिए न रोउॅंगी न चिल्लाऊँगी, 

जिस घर में भी जाउंगी उसे स्वर्ग ही बनाउॅंगी|


पापा के आंगन में पली, पढ़ लिखकर आगे चली, 

बाबुल से दूर जा रही है , घर के फूल की कली।




मेरी प्यारी बिटिया मेरी प्यारी गुड़िया- बिटिया रानी अर्थात बेटी पर दिल को छू लेने वाली यह कविता (Beti Par Kavita In Hindi , Maa Beti Par Kavita) आपको जरूर पसंद आई होगी। 

वास्तव में कवि की कल्पना ही कुछ ऐसी होती है कि वह अपने कल्पना सागर में शब्दों को संजोकर निराकार को भी साकार बना लेता है। 

Beti Par Kavita Poem On Daughter In Hindi Inspirational Poem On Daughter In Hindi Heart Touching Poem On Daughter In Hindi


इन्हें भी देखें 👇

Click - चार- चार लाइन की सुन्दर कविता व शायरी 


आप भी भारत की नंबर वन संस्कृत वेबसाइट SanskritExam. Com पर अपनी कविता अथवा अपना किसी भी प्रकार का लेख कहानी आदि प्रकाशित करवाना चाहते हैं तो इस व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े और अपना लेख भेजें। Join WhatsApp Group

आपका लेख लाखों लोगों तक पहुंचेगा और हमेशा हमेशा के लिए इंटरनेट पर सुरक्षित रहेगा। यह आपके लिए एक सुनहरा अवसर है। धन्यवाद। 

बेटी पर कविता - दिल को छू लेने वाली | Emotional Poem On Daughter In Hindi | Beti Par Kavita



Post a Comment

0 Comments

Youtube Channel Image
Earn Money घर बैठे पैसे कमाएं
Click Here